edvertise

edvertise
barmer



दक्षिण पश्चिम कोलंबिया के छोट से शहर बारबाकाओस में अच्‍छी सड़कों की मांग को लेकर महिलाएं दो साल में दूसरी बार सेक्‍स स्‍ट्राइक पर चली गईं हैं.

इसे 'क्रॉस लेग्‍स मूवमेंट' नाम दिया गया है. कोलंबिया के पत्रकार जॉन ओटिस की खबर के मुताबिक महिलाओं ने यह कहते हुए अपने साथियों के साथ सेक्‍स करने से मना कर दिया है कि जब तक उनके पिछड़े और छोटे शहर की सड़कों को देश के दूसरे हिस्‍सों से नहीं जोड़ा जाएगा वे अपनी हड़ताल जारी रखेंगी.

वैसे महिलाओं का अभियान रंग भी लाया है. खबर है कि एक सड़क की मरम्‍मत का काम शुरू हो गया है. आपको बता दें कि इस सड़क की हालत इतनी खराब है कि पास के अस्‍पताल तक पहुंचने में ही 14 घंटे का समय लग जाता है और कई बार तो जरूरतमंद रास्‍ते में ही दम तोड़ देते हैं.



महिलाओं ने सड़कों की खराब हालत के खिलाफ सबसे साल 2011 में सेक्‍स स्‍ट्राइक की थी. तब एक महिला और उसके अजन्‍मे बच्‍चे की मौत हो गई थी क्‍योंकि एंबुलेंस सड़क में फंस गई और वे समय रहते अस्‍पताल नहीं पहुंच पाए. उस समय जज मैरीबेल सिल्‍वा भी हड़ताल में शामिल हुईं थीं.

तब हड़ताल की नेता रूबी ने कहा था, 'हम ऐसी दुनिया में बच्‍चों को लेकर ही क्‍यों आएं जहां वे सिर्फ इसलिए मर जाते हैं क्‍योंकि उन्‍हें इलाज नहीं मिल पाता और हम उन्‍हें मूलभूत अधिकार तक नहीं दे सकते? हमने फैसला किया है कि जब तक सड़कों की हालत ठीक नहीं होती तब तक ना ही हम सेक्‍स करेंगे और ना ही बच्‍चे पैदा करेंगे.'

हड़ताल के 19 दिन बाद शहर के दो राजनेताओं ने वादा किया सड़कों की हालत ठीक की जाएगी और सरकार कम से कम 35 मील सड़क का निर्माण भी करगी. लेकिन दो साल बीतने के बावजूद कुछ नहीं हुआ. और अब महिलाएं फिर से हड़ताल पर चली गईं हैं.

लेकिन अब ऐसा लगता है कि महिलाओं के आंदोलन को देखते हुए सेना के इंजीनियर बुलडोजर और भारी मशीन लेकर मैदान में उतर आए हैं ताकि वे ये दिखा सकें कि सड़कों की मरम्‍मत की जा रही है.


 

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

 
Top